देश

अपनी भलाई के लिए पाक छोड़े आतंक: नायडू

बाकू
पाकिस्तान को आतंकवाद का 'केंद्र' करार देते हुए भारत ने शुक्रवार को कहा कि पाकिस्तान को अपनी, पड़ोसियों और दुनिया की भलाई के लिए निर्णायक ढंग से आतंकवाद को त्याग देना चाहिए। यहां गुटनिरपेक्ष आंदोलन के 18 वें सम्मेलन को संबोधित करते हुए उपराष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू ने कहा कि आतंकवाद न केवल अंतरराष्ट्रीय शांति और सुरक्षा के लिए बल्कि 120 सदस्यीय इस संगठन के मूल सिद्धांतों के लिए भी एक सबसे बड़ा विनाशकारी खतरा है।

नायडू ने कहा, 'आतंकवाद के विषय पर हमारी सोच स्वभाविक रूप से उसके मौजूदा केंद्र पाकिस्तान की ओर जाती है।' उपराष्ट्रपति ने भारत के अभिन्न हिस्से जम्मू-कश्मीर समेत अपने पड़ोसियों के खिलाफ सीमापार से आतंकवाद चलाने की पाकिस्तान की पुरानी नीति को एक बार फिर सही ठहराने के लिए पाक राष्ट्रपति आरिफ अल्वी द्वारा मंच के दुरूपयोग को लेकर अफसोस जताया और खरी-खरी सुनाई।

उन्होंने सख्त लहजे में कहा, 'वाकई, हम पाकिस्तान के आचरण के संदर्भ में इस गहरी चिंता को लेकर बड़े क्षेत्र की बात करते हैं। गुटनिरपेक्ष आंदोलन में हम सभी अपने विकास लक्ष्यों और आकांक्षाओं को पूरा करने पर केंद्रित हैं। पाकिस्तान को अंतरराष्ट्रीय समुदाय का विश्वास जीतने के लिए स्पष्ट रूप से काफी कुछ करने की जरूरत है। उसे अपनी, पड़ोसियों और दुनिया की भलाई के लिए आतंकवाद को त्यागने का फैसला करना चाहिए।'

Tags

Related Articles

Back to top button
Close