उत्तर प्रदेश

 अमानवीयता की हद पार कर बदमाशों ने युवती को निर्वस्त्र कर पीटा

 आजमगढ़                                                                                                                                             
उत्तर प्रदेश में आजमगढ़ के रौनापार थाना क्षेत्र में एक युवती को घर में घुसकर निर्वस्त्र कर पीटने का सनसनीखेज मामला सामने आया है। हालत ये है कि पुलिस लगातार कई दिनों तक मामले को दबाए हुए थी। उच्चधिकारियों के हस्तक्षेप पर शुक्रवार को घटना के एक हफ्ते के बाद पांच के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है। पीड़ित युवती के भाई की तहरीर पर यह मुकदमा दर्ज कर पुलिस आरोपियों की खोजबीन में जुट गई है।

रौनापार क्षेत्र के एक गांव में 17 अक्तूबर को सुबह नौ बजे पांच युवक पीड़ित युवती के घर घुस गए। पीड़ित के भाई ने आरोप  लगाया है कि पवन पुत्र रामबृक्ष समेत पांच लोग घर में मौजूद उसकी बहन को निर्वस्त्र कर उसे मारने पीटने लगे। बहन ने विरोध करते हुए जब शोर मचाने का प्रयास किया आरोपियों ने दहशत फैलाने के इरादे से तमंचे से फायर कर दिया।

जब इतने से भी उसकी बहन ने विरोध करना बंद नहीं किया तो युवक  जान से मारने की धमकी देते हुए वहां से चले। परिवार के लोगों ने इस घटना की सूचना उसी दिन पुलिस को दी। पुलिस मुकदमा दर्ज करने के पहले छानबीन के नाम मामले को टालती रही। लगातार टाल मटोल करने में लगी हुई थी। मामला सीओ सगड़ी के संज्ञान में आने के बाद रौनापार थाने की पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर लिया।

रौनापार एसओ कृष्णानंद ने कहा कि एक आरसीसी को लेकर दोनो पक्षों में विवाद इसकी वजह है। घटना में कोई सत्यता नहीं है। चूंकि उच्चाधिकारियों ने निर्देश दिया इसलिए मुकदमा दर्ज किया गया है। दूसरे पक्ष ने इसके पहले पीड़ित पक्ष पर भी मुकदमा दर्जकराया है। 

Related Articles

Back to top button
Close