देश

अहमदाबाद में सन्न करने वाला मंजर, पुलिसकर्मियों पर सैकड़ों उपद्रवियों ने बरसाए पत्थर 

 
अहमदाबाद 

नागरिकता कानून के विरोध के नाम पर हिंसक प्रदर्शन की कई तस्वीरें गुजरात के अहमदाबाद से आईं. एक प्रदर्शन के बाद पुलिसकर्मी वापस लौट रहे थे, लेकिन उपद्रवियों की भीड़ ने उन्हें घेर लिया और पथराव शुरू कर दिया. वीडियो में साफ देखा जा सकता है कि पुलिसकर्मी भागकर छिपने की कोशिश करते हैं लेकिन भीड़ के सिर पर खून सवार हो जाता है.

गुहार लगाते दिखे पुलिसकर्मी

पुलिसकर्मी लगातार कहते दिखते हैं कि आप ऐसा मत कीजिए लेकिन प्रदर्शनकारी कुछ नहीं सुनते. विरोध के नाम पर आतंक की ये तस्वीर सन्न कर देने वाली है. एक दूसरी घटना में प्रदर्शनकारियों की पलटन पुलिस की गाड़ी को घेर लेती है. प्रदर्शनकारियों ने पुलिस को धक्का देकर गाड़ी पर चढ़ा दिया और फिर उसे पलटने की कोशिश करने लगे. किसी भी समय कुछ भी हो सकता था लेकिन उपद्रवी कुछ भी सुनने को राजी नहीं थे. इसके बाद अहमदाबाद-पालनपुर हाइवे को बंद कर दिया गया. तीसरी तस्वीर गुजरात के ही बनासकांठा की है. प्रदर्शनकारी एक गाड़ी को घेर लेते हैं और उसपर टूट पड़ते हैं.

शाह आलम इलाके में हिंसक प्रदर्शन पर अहमदाबाद के पुलिस कमिश्नर आशीष भाटिया ने कहा, 32 लोगों को हिरासत में लिया गया है और अलग अलग लोगों पर एफआईआर दर्ज की जारही है. सीसीटीवी फुटेज के आधार पर अन्य हिंसक लोगों की पहचान की जा रही है. हिंसक घटना में 19 पुलिसकर्मी घायल हुए हैं.
 
बता दें, गुरुवार को गुजरात बंद का ऐलान किया गया था जिसे लेकर प्रदेश में अलग-अलग जगहों पर विरोध प्रदर्शन हुए. पालनपुर जिले के छपी में हजारों की तादाद में प्रदर्शनकारी सड़कों पर उतर गए और सड़क जाम कर दिया. हालात काबू में करने के लिए पुलिस ने कुछ प्रदर्शनकारियों को हिरासत में ले लिया. इसके बाद स्थिति बेकाबू हो गई और प्रदर्शनकारियों ने पुलिस की गाड़ी को धक्का दे दिया. पुलिस की गाड़ी पलटाने की भी कोशिश की गई. बाद में एहतियात बरतते हुए अहमदाबाद-पालनपुर हाइवे को बंद कर दिया गया.  

Tags

Related Articles

Back to top button
Close