देश

आप के आरोपों पर गंभीर ने दिया जवाब

नई दिल्ली
ईस्ट दिल्ली से बीजेपी सांसद गौतम गंभीर ने प्रदूषण बैठक में शामिल नहीं होने पर जारी विवाद पर आज पलटवार किया। बीजेपी सांसद ने आप पर पलटवार करते हुए कहा कि मैं पिता हूं और मुझे पता है कि प्रदूषण का क्या असर होता है। आप के आरोपों पर जवाब देते हुए उन्होंने कहा कि मैंने उनके कैंडिडेट को हराया है और तभी से वह मेरे खिलाफ सस्ते स्तर की राजनीति कर रहे हैं।

प्रदूषण की बैठक में शामिल नहीं होने पर दी सफाई
बीजेपी सांसद ने कहा कि प्रदूषण पर बैठक महत्वपूर्ण थी और मुझे इसका अहसास है। उन्होंने कहा, 'प्रदूषण पर बैठक महत्वपूर्ण थी, लेकिन मैं अपने कॉन्ट्रैक्ट से बंधा हुआ था। मैंने जनवरी में कॉन्ट्रैक्ट साइन किया और अप्रैल में राजनीति शुरूकी। कॉन्ट्रैक्ट के कारण कॉमेंट्री करने के लिए मैं बाध्य था। 11 नवंबर को मुझे मेल मिली और उसी दिन मैंने बैठक में शामिल नहीं होने का कारण बताते हुए जवाब दिया था।'

आप के आरोपों पर गौतम का 'गंभीर पिता' वाला जवाब
संसद सत्र में हिस्सा लेने पहुंचे गंभीर ने आप के आरोपों पर जोरदार पलटवार किया। उन्होंने कहा, 'सबसे पहले तो आम आदमी पार्टी को मरे जलेबी खाने से प्रॉब्लम नहीं है, मेरे बैठक में शामिल होने से प्रॉब्लम नहीं है। उन्हें सिर्फ इससे दिक्कत है कि मैंने उनके उम्मीदवार को हराया। मेरे राजनीति में शामिल होने के साथ ही उन्होंने मेरे खिलाफ कैंपेन शुरू कर दिया, पहले 2 वोटर आईडी कार्ड का फिर सबसे घटिया पैम्पलेट बंटवाने की राजनीति की। सीएम अपनी ही पार्टी की महिला की इज्जत दांव पर लगाकर एक सीट जीतना चाहते हैं। आप पार्टी कहती है कि मुझे प्रदूषण से मतलब नहीं है। मैं पिता हूं और मेरी साढ़े 5 साल और ढाई साल की बच्चियां इसी दिल्ली शहर में रहती हैं। मुझे पता है कि प्रदूषण का क्या प्रभाव होता है। दिल्ली शहर में जिनके बच्चे रहते हैं, उन्हें कैसे प्रदूषण से फर्क नहीं पड़ सकता?'

प्रदूषण पर किए अपने काम गिनवाए
क्रिकेटर से राजनेता बने गंभीर ने प्रदूषण के खिलाफ बीजेपी के काम गिनवाए। उन्होंने कहा, 'ईडीएमसी के पीछे पड़कर 90 करोड़ की गाड़ी खरीदी। जबसे मैं एमपी बना हूं गाजीपुर लैंडस्टर 4 बार जा चुका हूं। सीएम अपने विधायक से पहुंचे कि 5 साल में उन्होंने कितनी बार गाजीपुर का दौर किया है। सीएम ने पानी फ्री किया वो पानी जो जहर हो गया है, पीने लायक नहीं है।'

Related Articles

Back to top button
Close