देश

कमलेश हत्याकांड के दोनों मुख्य आरोपी अरेस्ट

लखनऊ
उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में हिंदू समाज पार्टी के अध्यक्ष कमलेश तिवारी की हत्या के पांचवें दिन मंगलवार को मुख्य आरोपियों अशफाक पठान और मोइनुद्दीन पठान को गुजरात एटीएस ने गिरफ्तार कर लिया है। दोनों आरोपियों को गुजरात-राजस्थान बॉर्डर से अरेस्ट किया गया है। दोनों ने अपना गुनाह कबूल लिया है। इससे पहले गुजरात से पकड़े गए तीन आरोपियों को लखनऊ की कोर्ट में पेश किया गया। तीनों साजिशकर्ताओं को 4 दिन की पुलिस कस्टडी में भेज दिया गया।

डीआईजी एटीएस गुजरात हिमांशु शुक्ला के निर्देशन में एसपी बीपी रोजिया, एसीपी बीएस चावड़ा और अन्य अधिकारियों ने कमलेश तिवारी की हत्या के मामले में वॉन्टेड आरोपियों अशफाक (34) और मोइनुद्दीन को गिरफ्तार कर लिया। अशफाक सूरत के लिंबायत स्थित ग्रीन व्यू अपार्टमेंट का रहने वाला है जबकि मोइनुद्दीन खुर्शीद पठान उमारवाड़ा स्थित लो कास्ट कॉलोनी, सूरत का रहने वाला है। बता दें कि अशफाक पेशे से मेडिकल रीप्रजेंटेटिव और मोइनुद्दीन फूड डिलिवरी बॉय का काम करता था।

भड़काऊ भाषण की वजह से वारदात को दिया अंजाम
गुजरात एटीएस की ओर जारी प्रेस विज्ञप्ति के मुताबिक, दोनों का नाम 18 अक्टूबर को लखनऊ में हुए कमलेश तिवारी हत्याकांड में सामने आ रहा था। शुरुआती पूछताछ में आरोपियों ने इस बात को कबूला है कि उन्होंने कमलेश तिवारी द्धारा दिए गए भड़काऊ भाषण की वजह से वारदात को अंजाम दिया। कानूनी प्रक्रिया पूरी करने के बाद इन आरोपियों को उत्तर प्रदेश पुलिस के हवाले कर दिया जाएगा ताकि आगे की कार्रवाई हो सके।

यूपी पुलिस ने ढाई-ढाई लाख का रखा था इनाम
यूपी के डीजीपी ओपी सिंह ने हत्‍या के आरोपी मोइनुद्दीन और अशफाक पर ढाई-ढाई लाख रुपये का इनाम घोषित क‍िया था। उन्होंने कहा था कि पुलिस जल्दी से हत्यारों को गिरफ्तार करेगी। बता दें कि दोनों आरोपियों ने दिनदहाड़े कमलेश की हत्‍या उनके कार्यालय में घुसकर कर दी थी। इससे पहले गुजरात एटीएस और यूपी पुलिस द्वारा चलाए गए ऑपरेशन में मौलाना मोहसिन शेख, फैजान और राशिद पठान को गिरफ्तार किया जा चुका है।

Tags

Related Articles

Back to top button
Close