छत्तीसगढ़

कोरबा में कर्ज से परेशान सराफा व्यवसायी ने पत्नी समेत खाया जहर, दोनों की मौत

कोरबा
छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) के कोरबा (Korba) जिले के निहारिका क्षेत्र में सराफा दुकान (Bullion Shop) का संचालन करने वाले व्यवसायी ने गुरुवार की सुबह अपनी पत्नी के साथ चीतापाली जंगल में जहर सेवन कर लिया. जहर खाने से मौके पर ही पत्नी (Wife) की मौत (Death) हो गई. पति की चीख-पुकार सुनकर मौके पर पहुंचे स्थानीय लोगों ने डॉयल 112 की मदद से उसे जिला अस्पताल लाया, जहां उपचार के दौरान पति की भी मौत हो गई. नि:संतान दंपत्ति के आत्महत्या (Suicide) का कारण अकेलेपन व कर्ज को बताया जा रहा है.

कोरबा पुलिस (Korba Police) ने मर्ग कायम कर विवेचना शुरू कर दी है. दरअसल रामपुर चौकी के कांशीनगर निवासी 55 वर्षीय मोहन सोनी द्वारा निहारिका में सर्वमंगला ज्वेलर्स दुकान का संचालन किया जाता था. मोहन सोनी व उसकी पत्नी 50 वर्षीय स्वर्णलता सोनी ने आज सुबह उरगा थाना क्षेत्र चीतापाली जंगल में जहर सेवन कर लिया. जहर खाने से स्वर्णलता सोनी की कुछ देर बाद मौत हो गई. पत्नी की मौत के बाद मोहनलाल सोनी चीख-पुकार मचाकर रो रहा था. मॉर्निंग वॉक पर निकले लोगों ने मोहन की आवाज सुनी और वे आवाज की दिशा में आगे बढ़े तो उन्होंने देखा कि एक महिला की लाश पड़ी हुई है. वहीं लाश के पास एक व्यक्ति रो रहा है.

उरगा थाना प्रभारी एसके खांडेकर ने बताया कि घटना की सूचना तत्काल डॉयल 112 व उरगा पुलिस को दी गई. उरगा पुलिस व डॉयल 112 की टीम ने तत्काल मोहन सोनी को जिला अस्पताल उपचार के लिए रवाना किया, जहां कुछ देर बाद उसकी भी मौत हो गई. प्रारंभिक पूछताछ में मोहन सोनी ने बताया कि उनका कोई नहीं है. परिवार के लोग उनसे कोई मतलब नहीं रखते, जिसकी वजह से उन्होंने खुदकुशी किया. मौका स्थल से ही जहर की शीशी भी बरामद की गई है. इस संबंध में उरगा थाना पुलिस ने बताया कि कल शाम गांव के लोगों ने पति-पत्नी को भैंसमा में घूमते हुए देखा था. पूछताछ में पता चला है कि पिछले कुछ दिनों से मोहन सोनी अपनी ज्वेलरी शॉप भी नहीं खोल रहा था. फिलहाल मामले में पुलिस ने धारा 174 के तहत मर्ग कायम करते हुए शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया.

Related Articles

Back to top button
Close