मनोरंजन

गजराज राव को लंबे सफर के बाद पहली बार मिला अवॉर्ड

ऐक्टर गजराज राव ने साल 1994 में फिल्म 'बैंडिट क्वीन' से बॉलिवुड में एंट्री ली थी। वह 'दिल से', 'तलवार', 'ब्लैक फ्राइडे' और 'रंगून' जैसी फिल्मों में नजर आ चुके हैं। बॉलिवुड में इतने लंबे सफर के बाद, पिछले साल आई फिल्म 'बधाई हो' से उनको अलग पहचान मिली। इसी फिल्म के लिए उनको पहला अवॉर्ड भी मिला। अब उन्होंने इस पर अपनी बात कही है।

कुछ दिन पहले ही 'बधाई हो' के रिलीज के एक साल पूरे हुए हैं। एक इंटरव्यू में गजराज राव ने शेयर किया कि 'बधाई हो' के बाद कैसे उनकी लाइफ बदल गई। फिल्म आज भी चर्चा में बनी हुई है। इसकी वजह पर बात करते हुए गजराज ने कहा, 'मुझे लगता है कि आइडिया का जो फ्रेशनेस था और स्क्रिप्ट का जो फ्रेशनेस था और कास्ट का जो फील था, उसकी वजह से दर्शकों ने आम फिल्मों से कुछ हटकर अनुभव किया।'

बता दें कि बधाई हो के लिए गजराज ने फिल्मफेयर जीता है। यह उनका पहला अवॉर्ड है। इस पर गजराज ने कहा कि आज भी उन्हें जो फीडबैक मिलता है वह दिल खुश कर देता है। उन्होंने कहा, 'मैंने कभी सोचा नहीं था कि मुझे इतना प्यार मिलेगा। मैं 25 साल से ऐक्टिंग कर रहा हूं। बहुत सारी अलग-अलग फिल्मों में छोटे-छोटे रोल किए हैं। मैंने ऐड फिल्में डायरेक्ट भी की हैं लेकिन इस फिल्म ने पूरी जिंदगी बदल दी है। मतलब पूरा 360 डिग्री चेंज हो गया है।'

Related Articles

Back to top button
Close