मनोरंजन

गांव की रामलीला में ये एक्टर बनता था रावण, विलेन के रोल में जीते कई अवॉर्ड

 
नई दिल्ली 

बॉलीवुड एक्टर आशुतोष राणा अपने द्वारा निभाए गए यूनिक रोल्स के लिए खूब सराहे जाते हैं. वे अलग-अलग रोल्स करना पसंद करते हैं और अपनी दमदार एक्टिंग के जरिए किरदार में जान फूंक देते हैं. एक्टर के जन्मदिन के खास मौके पर बता रहे हैं उनकी पर्सनल और प्रोफेशनल लाइफ के बारे में कुछ अहम बातें.

आशुतोष राणा 10 नवंबर, 1967 को मध्यप्रदेश के गाडरवाड़ा में जन्मे थे. आशुतोष का चेहरा जहन में आते ही सबसे पहले संघर्ष में निभाया उनका विलेन का किरदार याद आता है. ये किरदार बॉलीवुड के सबसे खुंखार विलेन में शुमार किया जाता है. दरअसल आशुतोष के एक्टर बनने की कहानी सिर्फ चंद दिनों की नहीं है. आशुतोष को बचपन से सही एक्टिंग का शौक था.

आशुतोष अक्सर अपने गांव में होने वाली रामलीला में रावण का रोल निभाया करते थे. आशुतोष अपने दादा जी को बहुत मानते थे और उनके कहने पर ही आशुतोष ने एक्टिंग में करियर बनाया.

साहित्य से है बहुत ज्यादा प्रेम-
ये बात तो लोगों से छिपी नहीं है कि आशुतोष बुक लवर हैं. उनकी प्रिय किताब कृष्ण की आत्मकथा है, जिसे मधु शर्मा ने लिखा है. ये आठ भागों में है. शिवाजी सावंत की मृत्युंजय भी उनकी प्रिय किताब है. उनके प्रिय कवि रामधारी सिंह दिनकर हैं. इसके अलावा उन्हें दुष्यंत कुमार, निराला भी पसंद हैं. अब तो आशुतोष राणा की भी व्यंग्य संग्रह 'मौन मुस्कान की मार' मार्केट में आ चुकी है. यह किताब प्रकाशित होने के साथ ही बेस्ट सेलर बन चुकी है.

पर्सनल लाइफ की बात करें तो आशुतोष ने साल 2001 में एक्ट्रेस रेणुका शहाणे से शादी की थी. दोनों के दो बेटे हैं. एक्टर ने नेशनल स्कूल ऑफ ड्रामा दिल्ली में एक्टिंग की पढ़ाई की. फिर मुंबई जाकर वहां बतौर एक्टर सेटल हुए. उन्होंने स्वाभिमान सीरियल से अपने करियर की शुरुआत की थी. आशुतोष की नोटेड फिल्मों की बात करें तो वे दुश्मन, जख्म, संघर्ष, राज, मुल्क, धड़क, वॉर जैसी फिल्में शामिल हैं.

Related Articles

Back to top button
Close