छत्तीसगढ़

छत्तीसगढ़ में बनेगा टी-कॉफी बोर्ड, सीएम बघेल ने बताई इसके पीछे की योजना, ऐसे मिलेगा फायदा

रायपुर 
छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने छत्तीसगढ़ टी काफी बोर्ड का गठन किये जाने का निर्णय लिया है। इसके पीछे मकसद राज्य में चाय और काफी की खेती को बढ़ावा देना है। सीएम बघेल ने रविवार को इस बारे में जानकारी दी। उन्होंने कहा कि कृषि मंत्री की अध्यक्षता में गठित होने वाले इस बोर्ड के उद्योग मंत्री उपाध्यक्ष होंगे। 

बोर्ड में अतिरिक्त मुख्य सचिव  मुख्यमंत्री सचिवालय, कृषि उत्पादन आयुक्त, प्रबंध संचालक सीएसआईडीसी, कृषि/उद्यानिकी एवं वन विभाग के एक-एक अधिकारी सहित दो विशेष सदस्य भी शामिल किये जायेंगे। भूपेश बघेल ने कहा कि अगले तीन साल में कम से कम दस-दस हजार एकड़ में चाय और कॉफी की खेती करने का लक्ष्य अर्जित किया जाएगा। चाय और कॉफी की खेती करने वाले किसानों को राजीव गांधी किसान न्याय योजना एवं कृषि विभाग की अन्य सुविधाएं दी जाएंगी। 

गौरतलब है कि इस राज्य के उत्तरी भाग, विशेषकर जशपुर जिले में चाय तथा दक्षिणी भाग, विशेषकर बस्तर जिले में कॉफी की खेती एवं उनके प्रसंस्करण की व्यापक संभावनाएं हैं। इसमें उद्यानिकी एवं उद्योग विभाग की महत्वपूर्ण भूमिका होगी। इस उद्देश्य की पूर्ति के लिए राष्ट्रीय स्तर के प्रतिष्ठित संस्थानों से तकनीकी मार्ग दर्शन लेने के साथ ही निजी क्षेत्र के विशेषज्ञों, निवेशकों एवं कन्सल्टेंट्स की सहायता भी ली जाएगी।

Related Articles

Back to top button
Close