मध्य प्रदेश

जय किसान फसल ऋण माफी योजना सहकारिता के लिये एक अवसर: अशोक सिंह

भोपाल
मध्यप्रदेश शासन के समय-समय पर जारी होने वाले नीति-निर्देशों के साथ प्रदेश की सहकारी संस्थाओं को सुदृढ़ बनाये रखने की दिशा में प्रदेश के जिला सहकारी केन्द्रीय बैंकों के मुख्य कार्यपालन अधिकारियों एवं अपेक्स बैंक के संभागीय शाखा प्रबंधकों को एक प्रादेशिक बैठक भोपाल में अपेक्स बैंक के टीटी नगर स्थित सुभाष यादव भवन में सम्पन्न हुई। बैठक में अपेक्स बैंक के प्रशासक अशोक सिंह ने कहा कि प्रदेश के मुख्यमंत्री की मंशानुरूप जय किसान फसल ऋण माफी योजना का लाभ जरूरतमंद किसानों को दिलाने के लिये सहकारिता को  5250 करोड़ प्राप्त हुआ है।

अतिशीघ्र ही शेष 2000 करोड़ अंशपूंजी के रूप में भी प्राप्त होंगे। इस योजना से अभी तक 9.42 लाख सहकारिता से जुड़े एनपीए खाते लाभान्वित हुए हैं, जिन्हें प्राथमिकता के आधार पर ऋण वितरित कर जहां एक ओर इस योजना के उद्देश्य को पूरा किया जा सकता है। वहीं बैंक के व्यवसाय में वृद्धि भी संभव होगी। प्रमुख सचिव सहकारिता अजीत केसरी ने कहा कि वर्तमान में सहकारी बैंकों एवं सहकारिता के क्षेत्र में काम करने वाले प्रत्येक अधिकारी/कर्मचारी को ईमानदारी एवं तत्परता से अत्यन्त महत्वपूर्ण भूमिका निभाने की जरूरत है।

आयुक्त सहकारिता एवं पंजीयक, सहकारी संस्थाएं डॉ. एमके अग्रवाल ने कहा कि सहकारी बैंकों को वित्तीय अनुशासनों यथा अंकेक्षण, सतत अंकेक्षण, सांविधिक अंकेक्षण, नाबार्ड द्वारा किये गये निरीक्षण, समितियों के आयकर रिटर्न, जीएसटी रिटर्न एवं रिसंकसीलियेशन के कार्यों को समय-सीमा में पूरा करने पर विशेष जोर देते हुए कहा कि इनका पालन निर्धारित समयावधि में पूर्ण कराने का दायित्व जिला सहकारी बैंकों के के मुख्य कार्यपालन अधिकारियों का होगा। बैठक का संचालन बैंक के प्रबंध संचालक प्रदीप नीखरा ने करते हुए बैंक की प्रगति की स्थिति से सभी को अवगत कराया।

Related Articles

Back to top button
Close