मध्य प्रदेश

पवई विधायक की सदस्यता खत्म होने के विरोध में उतरा लोधी-लोधा समाज

भोपाल
अखिल भारतीय लोधी-लोधा समाज के सम्मेलन में पवई विधायक की विधानसभा सदस्यता निरस्त करने के खिलाफ आवाज उठी। समाज के लोगों ने मंच ने एकजुट होकर इस निर्णय के विरोध में आवाज उठाई। तय किया कि 24 घंटे में सरकार पवई विधायक प्रहलाद सिंह लोधी की सदस्यता बहाल करे वरना समाज की तरफ से प्रदेश व्यापी आंदोलन किया जाएगा।

प्रहलाद सिंह लोधी ने कार्यक्रम में समाज के लोगों को एकजुट होकर चलने का आव्हान किया। उन्होंने कहा मैं बेहद गरीब घर से आया हूं। मेरे पास पंचायत चुनाव लडऩे के लिए पैसे नहीं थे लेकिन लक्ष्य बड़ा था। सभी के सहयोग से विधायक बना, पर कांग्रेस मुझे परेशान कर रही है। मेरी सदस्यता निरस्त करवा दी। लोधी समाज का सबसे ज्यादा पैसा थानों में पहुंचता है क्योंकि ये बात-बात पर लड़ाई करने लगते हैं।  मुख्य वक्ता तेंलगाना विधायक टी. राजा ने कहा लोधी समाज को मजबूत करके हम देश को मजबूत कर सकते हैं। समाज के लोग देशभर के आयोजन में शामिल हो इससे समाज जुड़ेगा। पूरे तेंलगाना में 40 हजार लोधी समाज है लेकिन एकजुटता के कारण सरकार को भी उनकी सुननी पड़ती है। लोधी हमेशा से दबंग रहे हैं। तेंलगाना में मुगल, निजाम से लोधी हमेशा लड़ते आए हंै। लोधी समाज जहां है वहां दूसरे समाज के लोग भी खुद को सुरक्षित मानते हैं। कार्यक्रम में विधायक जालिम सिंह पटेल, जवेरा विधायक धर्मेन्द्र सिंह, विधायक खरगापुर राहुल सिंह, जीएसटी कमिश्नर व्हीएस बिल्लोरे, पवन सिंगरौले,संदीप पटैल,अभय सिंह,संजय पटेल आदि मौजूद रहे।

सरकार की तानाशाही, दबाव बनाने की कोशिश मैं अपील करूंगा: प्रह्लाद
प्रहलाद सिंह लोधी ने सदस्यता निलंबन को सरकार की तानाशाही बताया। कहा दवाब बनाने के लिए तानाशाही ढंग से मेरे खिलाफ फैसला लिया गया। जब न्यायालय ने मुझे आधे घंटे में जमानत दे दी थी और 12 दिसंबर तक का वक्त दिया गया, लेकिन सरकार ने विधानसभा की मेरी सदस्यता निरस्त करने का फैसला आनन-फानन में लिया। प्रहलाद लोधी ने दावा किया उनके साथ समाज और अन्य वर्ग के लोग खड़े हैं। पार्टी का पूरा समर्थन मिला हुआ है। वो इस निर्णय के खिलाफ उच्च अदालत में अपील करेंगे।

उमा भारती के विधायक भतीजे की पिस्टल चोरी
  समारोह में सामूहिक भोज के दौरान पूर्व केंद्रीय मंत्री उमा भारती के विधायक भतीजे राहुल लोधी की इटली निर्मित लाइसेंसी पिस्टल चोरी होने से कार्यक्रम में हड़कंप मच गया। इसे खोजने के काफी प्रयास हुए लेकिन नाकामी हाथ लगी। इसके बाद राहुल ने पुलिस में शिकायत दर्ज कराई।

Related Articles

Back to top button
Close