बिहार

बिहार दारोगा भर्ती परीक्षा केंद्र पहुंचना होगा मुश्किल

 पटना 
BPSSC SI Exam 2019: बिहार में दारोगा अभ्यर्थियों 22 दिसंबर की परीक्षा के लिए एक दिन पहले ही निकलना बेहतर होगा। कारण राजद और अन्य विपक्ष्री दलों ने कैब और एनआरसी के विरोध में 21 दिसंबर को बिहार बंद का आह्वान किया है। इससे पहले 19 दिसंबर को छात्रा संगठनों ने महिला सुरक्षा की मांग करते हुए बंद का आह्वान किया है। ऐसे में 20 दिसंबर के बाद 22 दिसंबर को ही यातायात सामान्य रहने की संभावना है। परीक्षा में एक घंटे पहले आने का निर्देश दिया गया है। 

परीक्षा दो पालियों में होनी है। पहली पाली की परीक्षा दस बजे से और दूसरी की दो बजे से होनी है।  इसमें पांच लाख 90 हजार परीक्षार्थी शामिल होंगे। इस बार सभी को होम सेंटर दिया गया है। चूंकि, परीक्षा की तैयारी करने वाले ज्यादातर छात्र पटना में रहते हैं। ऐसी स्थिति में विशेषज्ञों की सलाह है कि एक दिन पहले ही परीक्षार्थियों को अपने होम सेंटर पर चले जाना चाहिए। बंद समर्थकों ने सड़क जाम किया तो वे परीक्षा केंद्र पर देरी से पहुंच पाएंगे या उन्हें इस बात की टेंशन बनी रहेगी।

आपको बता दें कि बिहार पुलिस में दारोगा के 2064 और सार्जेंट (प्रारक्ष अवर निरीक्षक, परिचारी) के 215 पदों पर बहाली होगी। वहीं कारा विभाग के अधीन सहायक जेल अधीक्षक के 167 पदों पर नियुक्ति की जाएगी। इनमें सहायक जेल अधीक्षक के 42 पद भूतपूर्व सैनिकों के लिए आरक्षित होंगे।

तीनों पदों पर नियुक्ति के लिए संयुक्त परीक्षा के माध्यम से नियुक्ति की जाएगी। लिखित परीक्षा में कम से कम 30 प्रतिशत अंक लाना अनिवार्य होगा। बीपीसीएससी को 4500 पदों पर बहाली करना था। फिलहाल विभाग ने 2446 पदों पर भर्तियां निकाली हैं।

इन पदों के लिए उम्मीदवार को तीन परीक्षाओं से गुजरना होगा। सबसे पहले प्रारंभिक परीक्षा होगी जिसमें वस्तुनिष्ठ प्रश्न पूछे जाएंगे। प्रारंभिक परीक्षा में सफल छात्रों को मुख्य (लिखित) परीक्षा के लिए चयन होगा। मुख्य परीक्षा में पास करनेवाले अभ्यर्थियों को शारीरिक परीक्षा से गुजरना होगा। अंतिम रूप से चयनित अभ्यर्थियों की मेरिट मुख्य लिखित परीक्षा में प्राप्त अंकों के आधार पर जारी की जाएगी। 

इस परीक्षा पर विशेष नजर रखी जाएगी। परीक्षा में किसी तरह की धांधली नहीं हो, इसका विशेष निर्देश भेजा गया है। केन्द्राधीक्षक से लेकर मजिस्ट्रेट और तमाम जिलों के एसएसपी को निर्देश भेजा जा चुका है। परीक्षा में किसी तरह पेपर वायरल नहीं हो, इस पर भी प्रशासन की विशेष नजर होगी। इस तरह की अफवाह फैलाने वालों पर कार्रवाई की जाएगी। सभी परीक्षा केन्द्रों पर जैमर लगाने की तैयारी चल रही है। बिहार पुलिस अवर सेवा आयोग के मीडिया प्रभारी सह एडीशनल एसपी अशोक कुमार ने बताया कि राज्यभर में 500 केन्द्रों पर परीक्षा होगी। राजधानी में ज्यादा परीक्षा केन्द्र बने हैं। इस परीक्षा के लिए छात्र अपना एडमिट कार्ड डाउनलोड कर सकते हैं।

Related Articles

Back to top button
Close