छत्तीसगढ़

बैंक हड़ताल: छग में 5 सौ करोड़ का लेन-देन प्रभावित

रायपुर
छत्तीसगढ़ समेत देशभर के कई बैंकों में मंगलवार को हड़ताल रही और वहां कामकाज प्रभावित रहा। 10 सरकारी बैंकों का विलय कर 4 बड़े बैंक बनाने के विरोध में वहां के अधिकारी-कर्मचारी हड़ताल पर रहे। छत्तीसगढ़ में हड़ताल से करीब 5 सौ करोड़ का लेन-देन प्रभावित रहा।

आॅल इंडिया बैंक इंप्लॉइज एसोसिएशन व बैंक इंप्लॉइज फेडरेशन आॅफ इंडिया के आव्हान पर छत्तीसगढ़ के सैकड़ों बैंक अधिकारी-कर्मचारी आज सुबह यहां पचपेड़ी नाका स्थित सिंडिकेट बैंक के सामने एकजुट हुए। इसके बाद वे सभी नारेबाजी करते हुए बैंक विलय का जमकर विरोध करते रहे। वे सभी वहां आउटसोर्सिंग, कस्टम शुल्क, जीएसटी दरों में फेरबदल का भी विरोध करते हुए नई भर्ती की मांग करते रहे। उन्होंने चेतावनी दी है कि मांगों पर जल्द विचार न करने पर वे सभी आगे की रणनीति बनाने के लिए बाध्य होंगे।

छत्तीसगढ़ बैंक के इंप्लॉइज एसोसिएशन के महासचिव शिरीष नलगोंडवार, एसके अग्रवाल, अशोक माहेश्वरी व अन्य पदाधिकारियों का कहना है कि लगातार विरोध के बाद भी 10 सरकारी बैंकों का 4 बड़े बैंकों में विलय किया जा रहा है। इसके तहत पंजाब नेशनल बैंक में ओरिएंटल बैंक आॅफ कॉमर्स और यूनाइटेड बैंक आॅफ इंडिया का, केनरा बैंक में सिंडिकेट बैंक का, यूनियन बैंक आॅफ इंडिया में आंध्रा बैंक व कॉरपोरेशन बैंक का और इंडियन बैंक में इलाहाबाद बैंक का विलय प्रस्तावित है। इस विलय के बाद देश में सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों की संख्या 27 से घटकर 12 रह जाएगी। उनकी और भी मांगों पर विचार नहीं किया जा रहा है।

26 से लगातार 4 दिन बैंक बंद–इधर जानकारी के मुताबिक दिवाली के समय भी बैंकों में 26, 27, 28 व 29 अक्टूबर को लगातार चार दिन छुट्टी रह सकती है। ऐसा महीने के चौथे शनिवार और दिवाली छुट्टी के चलते होगा। ऐसे में लोगों को कैश डिपॉजिट, निकासी को लेकर दिक्कत हो सकती है।

Related Articles

Back to top button
Close