बिहार

भागलपुर जंक्शन से बच्चा चोरी में चौंकाने वाला खुलासा, नर्सिंग होम संचालक समेत अब तक तीन गिरफ्तार

भागलपुर मुजफ्फरपुर 
भागलपुर जंक्शन से बीते तीन दिसंबर को चुराए गए ढाई वर्षीय बच्चे को रेल पुलिस ने बुधवार को मोतिहारी के अरेराज से बरामद कर लिया। मामले में अबतक तीन लोगों की गिरफ्तारी हुई है और दो प्राथमिकी दर्ज की गई है।

इससे पहले भागलपुर रेल पुलिस ने मुजफ्फरपुर के अहियापुर थाना के भीखनपुर में एक नर्सिंग होम के संचालक को गिरफ्तार किया। नर्सिंग होम संचालक ने ही बच्चे को एक लाख 30 हजार रुपये में अरेराज की महिला रिश्तेदार के हाथों बेचा था। वहीं मंगलवार को भागलपुर स्टेशन से सारिका और कल्पना बच्चा चोरी करते हुए गिरफ्तार हुई थी, जिससे पूछताछ में रैकेट का खुलासा हुआ। अहियापुर पुलिस के मुताबिक, गिरफ्तार भीखनपुर गांव का विजय चौधरी भवानी नर्सिंग होम का संचालन करता है, जबकि नर्स सारिका कुमारी व कल्पना मुंगेर की रहने वाली है। 

सारिका ने पूछताछ में बताया कि तीन दिसंबर को उनलोगों ने लखीसराय के पिपरिया थाना के कोयलीपुर गांव के सुविंदर सिंह की पत्नी रूबि देवी से भागलपुर स्टेशन पर उसके बच्चे प्रिंस को चुराया था। उनलोगों ने बच्चे को मुजफ्फरपुर के विजय चौधरी को पहुंचा दिया। इसके बाद भागलपुर जीआरपी ने लखीसराय से रूबि देवी को बुलाया और दोनों महिलाओं की पहचान कराई। फिर जीआरपी और आरपीएफ की टीम रूबि देवी और सारिका के साथ मुजफ्फरपुर रवाना हो गई। जहां देर रात विजय चौधरी को अहियापुर से दबोचा गया। विजय चौधरी ने बताया कि बच्चे को उसने अरेराज में बेचा है। इसके बाद पुलिस की टीम विजय चौधरी को लेकर अरेराज पहुंची और बच्चे को बरामद किया। 

मुजफ्फरपुर के सिटी एसपी ने अहियापुर थाने पहुंचकर मामले की छानबीन की। वहां से चोरी किए गए बच्चों के बारे में भी विजय से पूछताछ की जा रही है। उधर, बच्चे की मां रूबि देवी ने बताया कि नवगछिया स्थित मायके से घर लौट रही थी। साथ में प्रिंस भी था। भागलपुर जंक्शन से वह गायब हो गया था। रूबि ने बच्चा चोरी का आवेदन जीआरपी थाना में दिया था। भागलपुर रेलवे स्टेशन से तीन दिसंबर को बच्चा चोरी की घटना सीसीटीवी कैमरे में कैद है।

दो मोबाइल और सोने की चेन मिली थी
आरपीएफ इंस्पेक्टर एके सिंह ने बताया कि मंगलवार को दोनों महिलाएं बरारी निवासी कल्पना देवी और अमृत ठाकुर के 13 महीने के बच्चे शिवम को चोरी कर भाग रही थी। एक सिपाही को शक हुआ। उसने स्टेशन के चाइल्ड लाइन को बताया और चोरी कर भाग रही सारिका को पकड़ लिया। इसके बाद कल्पना भी पकड़ाई। उनके पास से दो मोबाइल और डेढ़ भर के सोने की चेन मिली। दोनों महिला ठीकठाक घर की लग रही थी। 

बेटा की चाहत में कर्ज लेकर खरीदा था प्रिंस को
एसआरपी ने बताया कि विजय कुमार डॉक्टर नहीं है, लेकिन वह क्लीनिक चलाता है। भागलपुर में पकड़ी गई दोनों महिलाओं में सारिका 23 साल और कल्पना 19 साल की है। हालांकि पूछताछ में कल्पना खुद को नाबालिग बता रही है। उसकी जांच कराई जाएगी। शोभा देवी ने पूछताछ में बताया है कि उसे तीन बेटियां हैं। एक बेटा भी था जो मर गया था। इसलिए उसने बेटे की चाहत में कर्ज लेकर एक लाख 30 हजार रुपये में प्रिंस को खरीदा। 

भागलपुर से बच्चा चोरी के आरोप में अहियापुर के एक नर्सिंग होम संचालक को गिरफ्तार किया गया है। उसने ही नर्स की मदद से बच्चा चोरी कर पूर्वी चंपारण की एक महिला से बेच दिया था। पूर्व में अहियापुर से चोरी किए गए अन्य बच्चों के बारे भी नर्सिंग होम संचालक से ली पूछताछ की जा रही है।  -प्रमोद कुमर मंडल,  सिटी एसपी, मुजफ्फरपुर 

Related Articles

Back to top button
Close