व्यापार

मुहूर्त ट्रेडिंग के दौरान कितना बिका सोना और चांदी

मुंबई
देश के सर्राफा बाजार में दिवाली के एक दिन बाद नए साल की मुहूर्त ट्रेडिंग के दौरान हुए सौदों में महज आधे घंटे में 100 किलो सोना बिका, जबकि चांदी की बिक्री 600 किलो हुई। हर साल की तरह मुहूर्त ट्रेडिंग के इस विशेष सत्र का आयोजन इंडिया बुलियन एंड ज्वेलर्स एसोसिएशन (आईबीजेए) द्वारा किया गया था।

आईबीजेए के राष्ट्रीय सचिव सुरेंद्र मेहता ने बताया कि करीब आधे घंटे चली मुहूर्त ट्रेडिंग के दौरान 100 किलो सोना और 600 किलो चांदी के सौदे हुए। आईबीजेए के मुताबिक, सोने-चांदी की खरीदारी का त्योहार धनतेरस पर इस साल देशभर में करीब 30 टन सोने की लिवाली रही, जबकि पिछले साल धनतेरस पर करीब 40 टन सोना बिका था।

मेहता ने बताया कि पिछले साल की मुहूर्त ट्रेडिंग के मुकाबले सोने और चांदी में हालांकि काफी ऊंचे भाव पर सौदे हुए, लेकिन बीते कारोबारी सत्र में धनतेरस पर सोने का जो भाव था, उससे कम भाव पर सौदे हुए, जबकि चांदी में ऊंचे भाव पर सौदे हुए।  एसोसिएशन से मिली जानकारी के अनुसार, मुहूर्त ट्रेडिंग के दौरान 24 कैरेट का सोना 38,666 रुपये प्रति 10 ग्राम (बिना जीएसटी) बिका, जबकि धनतेरस पर 25 नवंबर को 24 कैरट सोने का भाव 38,725 रुपये प्रति 10 ग्राम था। गौरतलब है कि सोने पर तीन फीसदी जीएसटी लगता है।

हालांकि चांदी में 46,751 रुपये प्रति किलो पर सौदे हुए जबकि धनतेरस पर चांदी का भाव 46,775 रुपये प्रति किलो था। वहीं, 22 कैरट शुद्धता का सोना 38,511 रुपये प्रति 10 ग्राम के भाव बिका जबकि धनतेरस के दिन 22 कैरट सोने का दाम 38,57० रुपये प्रति 10 ग्राम था।

मुहूर्त ट्रेडिंग 11.56 में शुरू हुई और 12.28 बजे तक चली। इस दौरान मुंबई के झावेरी बाजार स्थित आईबीजेए के दफ्तर में एसोसिएशन के सदस्य मुहूर्त सौदे के लिए जुटे थे।  मेहता ने बताया, “इस आधे घंटे कारोबार के दौरान 100 किलो सोना बिका जबकि 600 किलो चांदी के सौदे हुए।”

दिवाली के अगले दिन हिंदू नव वर्ष का आरंभ होता है जब कारोबारी नए साल की अपनी नई खाता-बही की शुरुआत करते हैं। दिवाली के बाद बलिप्रतिपदा का अवकाश होने के कारण सोमवार को देश के शेयर बाजार और कमोडिटी वायदा बाजार में कारोबार बंद है। गुजरात और मध्यप्रदेश समेत देश के कुछ हिस्सों में नए साल के पहले दिन होने के कारण छुट्टियां मनाई जा रही है।

 

Related Articles

Back to top button
Close