मध्य प्रदेश

सदन में हंगामा कार्यवाही दो बार स्थगित, कमलनाथ बोले- सरकार चलाने और मुंह चलाने में फर्क होता है

भोपाल
 विधानसभा के शीतकालीन सत्र के तीसरे दिन किसानों के मुद्दे पर जमकर हंगामा हुआ । सदन की शुरुआत में ही किसानों के मुद्दे को लेकर पक्ष विपक्ष में तीखी नोकझोंक देखने को मिली। विपक्ष के आरोप में मुख्यमंत्री कमलनाथ ने तीखी प्रक्रिया देते हुए विपक्ष पर हमला बोलै। सदन में सीएम कमलनाथ बोले  केंद्र से राशि नहीं मिली, क्या 28 सांसदों में से किसी भी एक सांसद ने केंद्र के सामने बात रखी। उन्होंने कहा कि ''मुंह चलाने में और सरकार चलाने मे अंतर है"। मुख्यमंत्री कमलनाथ के इस बयान पर भाजपा विधायक नरोत्तम मिश्रा ने पलटवार करते हुए कहा कि, "सही कह रहे कमलनाथ, ये सरकार इसका उदारहण है।"

गुरुवार को शून्यकाल के दौरान नरोत्तम मिश्रा और सीएम कमलनाथ के बीच भी नोंकझोंक हुई। सीएम कमलनाथ ने कहा कि सरकार चलाने और मुंह चलाने में फर्क होता है। हम सरकार चला रहे हैं और आप लोग केवल मुंह चला रहे हैं। इससे पहले भाजपा विधायक एप्रेन पहनकर विधानसभा पहुंचे और गेट पर जमकर नारेबाजी की। इस पर युवाओं को बेरोजगारी भत्ता नहीं मिलने और किसानों से जुड़ी अन्य समस्याओं को लेकर नारे लिखे हुए थे।

इधर, पूरे प्रदेश में भारतीय जनता युवा मोर्चा अपनी विभिन्न मांगों को लेकर प्रदर्शन कर रहा है।   सदन की कार्यवाही शूरू होते ही शून्यकाल के बाद प्रश्नकाल होगा। इसके बाद अनुपूरक बजट पर चर्चा होगी। बुधवार को वित्तमंत्री तरुण भनोत ने 23 हजार करोड़ से अधिक का अनुपूरक बजट पेश किया था।

 

Tags

Related Articles

Back to top button
Close