भोपाल

दूरस्थ आईटीआई को भी डिजिटल ई-लर्निंग से जोड़ना आवश्यक – श्रीमती सिंधिया

भोपाल

मध्यप्रदेश के युवाओं में दक्षता और कौशल विकास को निखारने के उद्देश्य से तकनीकी शिक्षा विभाग, ग्लोबल स्किल पार्क एवं केलिफोर्निया की सेल्स फोर्स कंपनी के मध्य एमओयू हुआ। आज नई दिल्ली के मध्यप्रदेश भवन में तकनीकी शिक्षा एवं कौशल विकास मंत्री श्रीमती यशोधरा राजे सिंधिया की उपस्थिति में इस करार पर हस्ताक्षर किए गए।

संचालक कौशल विकास हरजिंदर सिंह ने विलियम सिम, उपाध्यक्ष / एपीएसी और एएनजेड प्रमुख, ट्रेलहेड अकादमी, सेल्सफोर्स सिंगापुर के साथ समझौता ज्ञापन का आदान-प्रदान किया। डॉ. मोहन सेन अपर संचालक ने तकनीकी शिक्षा निदेशालय की ओर से एमओयू का आदान-प्रदान किया।

तकनीकी शिक्षा मंत्री श्रीमती सिंधिया ने कौशल विकास में डिजिटल लर्निंग के महत्व की जानकारी दी। उन्होंने कहा कि राज्य के दूरस्थ आईटीआई को भी छात्रों के इंडस्ट्री के लिए तैयार करने के लिए डिजिटल ई-लर्निंग सुविधा से जोड़ा जाना चाहिए। श्रीमती सिंधिया ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने आत्म-निर्भर भारत का नारा दिया है, उसी में भागीदारी करते हुए मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने आत्म-निर्भर मध्यप्रदेश का संकल्प लिया है। ग्लोबल स्किल पार्क और केलिफोर्निया की सेल्स फोर्स कंपनी के मध्य ये करार आत्म-निर्भर मध्यप्रदेश की ओर एक कदम है। उन्होंने कहा कि इस करार से मध्यप्रदेश के युवाओं को अपने कौशल को निखारने में बड़ी मदद मिलेगी। सेल्स फ़ोर्स के साथ इस एमओयू का मुख्य उद्देश्य ई-लर्निंग प्लेटफार्म के माध्यम से तकनीकी और इंजीनियरिंग के छात्रों को डिजिटल फ्लूएंसी को बढ़ाने तथा उनका कौशल विकास करने के अवसर प्रदान करना है।

चेयरपर्सन और सेल्सफोर्स इंडिया की सीईओ सुअरुंधति भट्टाचार्य ने बताया कि कैसे सेल्सफोर्स तकनीकी और इंजीनियरिंग स्नातकों को डिजिटल ई-लर्निंग सर्टिफिकेशन प्रदान कर रहा है, जिससे वे अपनी शिक्षा पूरी करते ही उन्हें उद्योग के लिए तैयार कर सकें। सेल्सफोर्स तेजी से बढ़ रहा है और 2025 तक भारत में 5.5 लाख नौकरियाँ और व्यापार राजस्व में 50 बिलियन डॉलर का सृजन होने की उम्मीद है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *