छत्तीसगढ़रायपुर

यूक्रेन से लौटे छात्र छग के चिकित्सकीय संस्थाओं में एडमिशन देने किया प्रदर्शन

रायपुर
यूके्रन में हुए पिछले दिनों हुए युद्ध के बाद छत्तीसगढ़ से पढ़ाई करने गए छात्र वापस लौट तो आए, लेकिन उन्हें अब पढ़ाई की चिंता सता रही है। छत्तीसगढ़ सरकार और स्वास्थ्य मंत्री टी.एस. सिंहदेव से छग के चिकित्सकीय संस्थानों में एडमिशन दिए जाने की मांग को यूक्रेन से लौटे छात्र-छात्राओं के साथ उनके परिवार बुढ़ातालाब धरना स्थल में एकत्र हुए और एडमिशन दिए जाने की मांग को लेकर जमकर विरोध प्रदर्शन किया।

परिजनों और छात्र-छात्राओं का कहना था कि हम सभी चाहते हैं कि हमारी पढ़ाई आगे बढ़ सके। यूक्रेन में युद्ध के हालात की वजह से मेडिकल की पढ़ाई आगे नहीं हो सकी इसलिए अब यह सभी छत्तीसगढ़ के चिकित्सा संस्थानों में एडमिशन दिए जाने की मांग कर रहे हैं। दरअसल यूक्रेन में भारत से भी सस्ती दरों पर मेडिकल की पढ़ाई हो जाती है, अच्छी सुविधा होने की वजह से दुनिया भर के छात्र-छात्राएं यूक्रेन जाते हैं और इसी के चलते छत्तीसगढ़ से भी बहुत से बच्चे यूक्रेन गए हुए थे। रूस-यूक्रेन युद्ध की वजह से वे जैस-तैसे अपने बीच में पढ़ाई छोड़कर स्वदेश लौटे थे। छात्रों को उम्मीद थी कि कुछ वक्त बाद जब युद्ध थमेगा तो यह वापस लौट पाएंगे। मगर अब तक रूस और यूक्रेन के बीच जंग जारी है। माहौल शांत होता नहीं दिख रहा है इसलिए इन छात्रों ने अब प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव से प्रदेश में ही एडमिशन दिए जाने की मांग की है।

राजधानी रायपुर और आसपास के जिलों से यूक्रेन से लौटे छात्र-छात्राओं और उनके परिजन बुढ़तालाब धरना स्थल में एकत्र हुए और छत्तीसगढ़ के किसी भी चिकित्सकीय संस्थानों में एडमिशन दिए जाने की मांग को लेकर विरोध-प्रदर्शन किया। फिलहाल इन्हें किसी तरह का कोई सकारात्मक आश्वासन प्रशासन या सरकार की ओर से नहीं मिला है। छात्र-छात्राओं और उनके परिजनों का कहना था कि हम तब तक संघर्ष करेंगे जब तक हमारी मांग पूरी नहीं हो जाती।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *