उत्तरप्रदेश

आतंकियों की गिरफ्तारी के बाद पश्चिमी यूपी के कई युवक एटीएस के रडार पर

लखनऊ
यूपी में स्वतंत्रता दिवस से ठीक पहले JEM और IS के आंतकियों के पकड़े जाने के बाद यूपी एटीएस ने उनसे जुड़े कई युवकों पर अपनी नजर गड़ा ली है। जैश-ए-मुहम्मद के आतंकी मुहम्मद नदीम व उसके साथी हबीबुल इस्लाम उर्फ सैफुल्ला की गिरफ्तारी के बाद आतंकवाद निरोधक दस्ता (एएटीएस) ने कई संदिग्धों की छानबीन तेज की है।

एटीएस यूपी में खंगालेगी तीनों आतंकियों का नेटवर्क

  • पश्चिमी उत्तर प्रदेश में कुछ संदिग्ध युवकों के ठिकानों पर छापेमारी भी की गई। एटीएस उनके बारे में और गहनता से पड़ताल कर रही है। जल्द उन पर कानूनी शिकंजा कस सकता है।
  • एटीएस अब नदीम व सैफुल्ला के अलावा नौ अगस्त को आजमगढ़ से पकड़े गये आइएस (इस्लामिक स्टेट) के आतंकी सबाउद्दीन को पुलिस रिमांड पर लेकर पूछताछ शुरू करेगी।
  • तीनों से अन्य एजेंसियों के अधिकारी भी पूछताछ करेंगे, जिससे अन्य राज्यों में उनके नेटवर्क को खंगाला जा सके।
  • एटीएस ने तीनों आरोपितों के मोबाइल व इंटरनेट मीडिया अकाउंट से उनके करीबियों का ब्योरा भी जुटाया है। जिसके आधार पर आगे की छानबीन की जा रही है।
  • आरोपितों के आपसी कनेक्शन भी देखे जा रहे हैं। यह भी पता लगाने का प्रयास किया जा रहा है कि तीनों के अधिक संपर्क में कौन लोग थे।
  • साथ ही आतंकी (Terrorist) फंडिंग की दिशा में भी छानबीन शुरू की गई है। तीनों आरोपितों व उनके करीबियों के बैंक खातों की पड़ताल भी शुरू की गई है।
  • जांच एजेंसियां बीते दिनों प्रकाश में आये कुछ संदिग्ध आतंकियों व उनकी गतिविधियों को लेकर भी तीनों से पूछताछ करेंगी। एटीएस मुख्यालय स्तर पर पूछताछ के लिए अलग-अलग टीमों का गठन किया गया है।

बता दें कि एनआइए/एटीएस की विशेष अदालत ने JEM के आतंकी नदीम और सैफुल्ला को 12 दिन और IS के आतंकी सबाहुद्दीन की 10 दिन की रिमांड मंजूर की है। विशेष जज अनुरोध मिश्र ने यह आदेश एटीएस की ओर से दाखिल अलग-अलग अर्जी पर दिया है। इन तीनों अभियुक्तों की कस्टडी रिमांड की अवधि 17 अगस्त की सुबह 10 बजे से शुरू होगी।

9 अगस्त को आजमगढ़ से IS के आतंकी सबाहुद्दीन को यूपी एटीएस (UP ATS) ने दबोचा था। इसके बाद 12 अगस्त को सहारनपुर जिले से जैश-ए-मुहम्मद के आतंकी मुहम्मद नदीम को एटीएस ने पकड़ा था। पूछताछ के दौरान नदीम ने 19 वर्ष के हबीबुल इस्लाम उर्फ सैफुल्ला के बारे में जानकारी दी थी। जिसे एटीएस ने कानपुर से 14 अगस्त को पकड़ा था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *