छत्तीसगढ़रायपुर

राज्य युवा आयोग के सदस्य ने विधायक पर लगाया कमीशनखोरी व भ्रष्टाचार के आरोप

बीजापुर
राज्य युवा आयोग के सदस्य अजय सिंह ने प्रेस वार्ता के दौरान बीजापुर के विधायक एवं बस्तर विकास प्राधिकरण के उपाध्यक्ष विक्रम मण्डावी पर आरोप लगाते हुए विधायक के कार्यशैली को विवादित और कांग्रेस के लिए आने वाले चुनाव में नुकसानदायक बताया है। उन्होने कहा कि जिले के लाल पानी प्रभावित समेत अंदरूनी इलाकों में साफ पानी की मुक्कमल व्यवस्था को लेकर 5 करोड़ से अधिक के स्वीकृत कार्य कमीशनखोरी की भेंट चढ़ गए। सोलर ड्यूल पम्प, सोलर लाइट जैसे कार्यों में जमकर भ्रष्टाचार हुआ है। महादेव तालाब के मुद्दे पर भाजपा के आरोपों को सही बताते हुए बड़े पैमाने पर भ्रष्टाचार का आरोप लगाते हुए उन्होने कहा कि यदि आरोप सही नही है तो महादेव तालाब में जहां निर्माण कार्य किये जा रहे हैं वहां लागत राशि और ठेकेदार के नाम का उल्लेख करता साइन बोर्ड लगवाया जाए इससे सच्चाई सामने आ जायेगी।

युवा आयोग सदस्य अजय सिंह ने विधायक पर सागौन तस्करी में लिप्त पशु चिकित्सा अधिकारी को संरक्षण देने का आरोप लगाते हुए उन्होने कहा कि विधायक के इस बयान के बाद आरोपी अधिकारी लल्लन सिंह विधायक बंगला पहुंचने लगे, जिसके बाद ना तो जांच आगे बढ़ पाई है और ना ही कार्रवाई हुई। उन्होने कहा कि ऐसे मामलों में अफसर के विरुद्ध बर्खास्तगी की कार्रवाई होनी चाहिए, जो विधायक के संरक्षण के चलते नही हो पाई।

युवा आयोग सदस्य अजय सिंह ने कहा कि मुझे अफसोस नही कि मैं पार्टी से निष्कासित हूं, दु:ख तो इस बात का कि कांग्रेस मुद्दों से भटक गई है, 15 वर्ष संघर्ष करने के बाद कार्यकतार्ओं की मेहनत से हम विजयी हुए थे,फिर भी संघर्ष के दिनों में साथ देने वाले कार्यकर्ता उपेक्षित है, उनकी जगह चंद रोज पहले भाजपा से कांग्रेस आने वाले नकुल ठाकुर, बसन्त टाटी जैसे नेताओं को बड़े पदों से नवाजा जा रहा है। उन्होने कहा कि बीजापुर जिला कांग्रेस के नेताओं के विपक्ष के आरोपों पर पलटवार के बजाए आत्ममंथन की दरकार है, चूंकि पन्द्रह साल सत्ता में रही भाजपा अपना वजूद खो चुकी है, लेकिन कांग्रेस भी सत्ता के  अहंकार में वही गलती दोहराने की तैयारी में है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *