भोपालमध्य प्रदेश

समाज के सहयोग से मप्र को बनाएंगे नशामुक्त: मुख्यमंत्री

  • गांधी जयंती से मप्र में शुरू हुआ नशा मुक्ति जागरूकता अभियान
  • शिवराज राजा जनक की तरह, उन्हें आशीर्वाद दें: उमा

भोपाल
मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने कहा है कि विकास गतिविधियों के साथ नागरिकों की जिंदगी को बनाना और उनके जीवन को बचाना सरकार की जिम्मेदारी है। नशा करने से शरीर, मन, बुद्धि और परिवार सभी को नुकसान होता है। नशे के मकड़जाल में फँसने वाले का जीवन तबाह और बरबाद हो जाता है। समाज को नशामुक्त बनाने में हम कोई कसर नहीं छोड़ेंगे। उन्होंने कहा कि सरकार और समाज मिलकर प्रदेश को नशामुक्त बनाएंगे। इसके लिए उन्होंने लोगों को संकल्प भी दिलाया। मुख्यमंत्री चौहान रविवार को गांधी जयंती से प्रदेश में शुरू हुए राज्यव्यापी नशा मुक्ति अभियान कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे। कार्यक्रम में कें द्रीय मंत्री डॉ वीरेंद्र खटीक,पूर्व मुख्यमंत्री सुश्री उमा भारती,योग गुरू बाबा रामदेव,गायत्री परिवार के डॉ चिन्मय पंड्या,श्री रामचन्द्र मिशन के अध्यक्ष कमलेश पटेल व आरोग्य भारती के राष्ट्रीय संगठन सचिव डॉ. अशोक वार्ष्णेय भी मौजूद थे। कार्यक्रम को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि स्वच्छता के क्षेत्र में मध्यप्रदेश को कई पुरस्कार प्राप्त हुए हैं। हम वृक्षारोपण,लिंगानुपात, पानी बचाने और नशा मुक्ति में भी देश में प्रथम स्थान पर आने के लिए निरंतर प्रयासरत रहेंगे। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में नशा मुक्त भारत अभियान में प्रदेश हर संभव योगदान देगा। नशा मुक्ति के लिए जागरूकता संबंधी गतिविधियां संचालित की जाएँगी।

हुक्का लाउंज होंगे प्रतिबंधित
मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि प्रदेश में नशे की गतिविधियों को नियंत्रित करने के लिए ऐसी आबकारी नीति बनाई जाएगी, जिससे शराब को प्रोत्साहन नहीं मिले और न पीने वालों को परेशानी का सामना नहीं करना पड़े। हुक्का लाउंज जैसी गतिविधियां प्रदेश की धरती पर नहीं चलेंगी। ड्रग्स और अवैध गतिविधियां चलाने वालों पर कठोरतम कार्यवाही की जाएगी। युवा नशे की ओर जाएँ ही नहीं, इस उद्देश्य से राज्य में खेल और योग गतिविधियों का गाँव-गाँव में विस्तार किया जाएगा। राज्य शासन धर्म गुरुओं और समाज के साथ मिल कर प्रदेश को नशा मुक्त बनाने के लिए गतिविधियां संचालित करेगा। इस कार्य में स्वयं सेवी संस्थाओं का भी सहयोग लिया जाएगा। कार्यक्रम को सभी मंचासीन अतिथियों ने भी संबोधित किया।

उमा ने की मुख्यमंत्री की जमकर तारीफ
शराबबंदी की मांग करती रहीं पूर्व मुख्यमंत्री सुश्री उमा भारती ने भी कार्यक्रम को संबोधित किया। उन्होंने मंच से मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की जमकर तारीफ की। उन्होंने कहा कि चौहान मुख्यमंत्री होने के साथ समाज सुधारक भी हैं। शिवराज सरकार जिस प्रकार से नशा मुक्ति के प्रयास कर रही है, उससे शीघ्र ही नशा मुक्ति के क्षेत्र में मध्यप्रदेश मॉडल बन कर उभरेगा। शिवराज जी राजा जनक की तरह हैं,उन्हें आशीर्वाद दें।

शिवराज का उत्साह हिमालय जैसा: बाबा रामदेव
केंद्रीय सामाजिक न्याय मंत्री डॉ वीरेंद्र खटीक ने कहा कि प्रधानमंत्री नेतृत्व में नशा मुक्त भारत के लिए सभी मंत्रालयों की ओर से समन्वित प्रयास जारी हैं। नवचेतना मॉड्यूल से शिक्षकों और विद्यार्थियों को जागरूक किया जा रहा है। योग गुरू बाबा रामदेव ने कहा कि मुख्यमंत्री श्री चौहान का उत्साह हिमालय जैसा है। उनके नेतृत्व में प्रदेश में नशामुक्ति का पवित्र महायज्ञ आरंभ हो रहा है। श्री राम चन्द्र मिशन के अध्यक्ष कमलेश पटेल ने कहा कि माता-पिता की जिम्मेदारी भी है कि वे बच्चों को वे नशे से दूर रहने के संस्कार दें। देव डॉ. चिन्मय पंड्या ने गायत्री परिवार द्वारा नशा मुक्ति के लिए चलाई जा रही गतिविधियों की जानकारी दी। आरोग्य भारती के डॉ. वार्ष्णेय ने कहा कि नशे से मुक्ति के लिए सभी स्तर पर प्रयास आवश्यक हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *