देश

शिक्षिका की सड़क दुर्घटना में मौत, दशहरे का उत्साह मातम में बदला

पीरी बाजार (लखीसराय)
नवरात्र पर हर तरफ दुर्गा पूजा और दशहरे के धार्मिक और उल्लास भरे माहौल के बीच दुखद घटना भी घटी है। लोशघानी गांव की एक शिक्षिका की सड़क हादसे में मौत हो जाने से सारी खुशियां मातम में बदल गई है। जानकारी के अनुसार स्थानीय रामविलास रजक की पत्नी शीला कुमारी मध्य विद्यालय लोशघानी में शिक्षिका थी। जबकि पति जमालपुर रेल कारखाना में कार्यरत हैं। वे परिवार सहित जमालपुर (मुंगेर) में रहती थी। प्रत्येक दिन वह वहीं से स्कूल आना-जाना करती थी।

सोमवार महाअष्टमी पूजा के अवसर पर वह काली पूजा के लिए अपने पुत्र बिट्टू के साथ बाइक से जा रही थी। तभी जमालपुर-मुंगेर रोड में गायत्री मंदिर के समीप उनकी बाइक दुर्घटना का शिकार हो गई। वह गंभीर रूप से चोटिल हो गई। उनके सिर के पिछले हिस्से में काफी चोट आई। उन्हें इलाज के लिए पहले रेलवे अस्पताल जमालपुर ले जाया गया जहां से मुंगेर भेज दिया गया।

स्थिति को गंभीर देखते हुए वहां से भी पटना रेफर कर दिया गया। पटना में एक निजी क्लीनिक में इलाज के दौरान उनकी मौत हो गई। मृत शिक्षिका को दो पुत्री तथा एक पुत्र है जिसमें एक पुत्री की शादी हो चुकी है। बुधवार को मुंगेर गंगा घाट पर मृत शिक्षिका को मुखाग्नि दी गई। इधर शिक्षिका की मौत की खबर मिलते ही गांव में शोक की लहर दौड़ है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *