देश

LED TV में हुए जोरदार धमाके से गई एक की जान

नई दिल्ली
LED TV में ब्लास्ट का एक चौंकाने वाला मामला सामने आया है। घटना गाजियाबाद की है। इस ब्लास्ट में 16 साल के एक लड़के की जान चली गई, जबकि दो लोग गंभीर रूप से घायल हो गए। धमाका इतना जोरदार था कि कमरे की उस दीवार का एक हिस्सा भी गिर गया जिस पर टीवी टंगा था। मोबाइल में धमाके या आग लगने की खबर अक्सर आती रहती है, लेकिन एलईडी टीवी का फटना वाकई काफी चिंताजनक है। अगर आपके घर में भी एलईडी टीवी है, तो अब आपको काफी सतर्क रहने की जरूरत है। यहां हम आपको कुछ जरूरी टिप्स के बारे में बता रहे हैं, जिससे आप खुद को और अपने परिवार को ऐसी अनहोनी से सेफ रख सकते हैं।  

घर की पुरानी वायरिंग
घर की पुरानी वायरिंग इलेक्ट्रिकल अप्लायंसेज में आग लगने का सबसे बड़ा कारण है। इसके लिए जरूरी है कि अपने घर की पुरानी हो चुकी वायरिंग पर ध्यान रखें। जरूरत हो तो उसे बदल देना ही बेहतर है। पुरानी वायरिंग अक्सर शॉर्ट सर्किट का भी कारण बनती है और इससे पूरे घर में आग लगने का खतरा काफी बढ़ जाता है। साथ ही यह भी ध्यान दें कि टीवी को लंबे समय तक स्टैंडबाय मोड में न रखें। जब टीवी न देख रहे हों तो उसे सही तरह से बंद कर दें ताकि उसे ठंडा होने का थोड़ा समय मिल जाए।

इलेक्ट्रिकल सर्किट ओवरलोड
घर में जरूरत से ज्यादा एक्सटेंशन वायर का इस्तेमाल करना खतरनाक साबित हो सकता है। टीवी, कंप्यूटर और दूसरे इलेक्ट्रिकल अप्लायंसेज को एक ही एक्सटेंशन बोर्ड से कनेक्ट करने पर लोड काफी बढ़ जाता है। कई बार यूजर्स को एक्सटेंशन बोर्ड की क्षमता का पता नहीं होता और अनजाने में वे किसी अनहोनी को बुलावा दे देते हैं। ज्यादा लोड पड़ने से एक्सटेंशन बोर्ड की इंटरनल वायरिंग ज्यादा हीट हो सकती है और उसमें आग भी लग सकती है।

लोकल रिपेयर और गलत कैपेसिटर को कहें न
पुराना टीवी अगर खराब हो जाए तो अक्सर यूजर कुछ पैसे बचाने के लिए उसे ऑथोराइज्ड सर्विस सेंटर की बजाय लोकल टेक्निशियन से रिपेयर करवा लेते हैं। अगर आप भी ऐसा करते हैं, तो इस आदत को तुरंत बदल डालिए। लोकल टेक्निशियन टीवी को ठीक करने के लिए लगत वायरिंग और कैपेसिटर का इस्तेमाल कर सकते हैं। टीवी में लगाया गया गलत कैपेसिटर ओवरहीट हो सकता है और इससे टीवी में आग भी लग सकती है।     

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *