देश

रिम्स में कैदी की मौत पर बवाल, परिजनों का पुलिस पर गंभीर आरोप

रांची

रांची के बिरसा मुंडा केंद्रीय कारा में बंद हत्या का कैदी रहमतुल्लाह अंसारी की गला कटने से मौत हो गई। हालांकि परिजनों ने रहमतुल्लाह अंसारी की जेल में हत्या होने का आरोप लगाया है। इसको लेकर परिजनों ने बुधवार को रिम्स परिसर में जमकर हंगामा किया। परिजनों ने आरोप लगाया है कि जेल प्रशासन और अन्य कैदी की मिलीभगत से ही धारदार हथियार से मारकर रहमतुल्लाह की हत्या की गई है। वह मार्च से जेल में बंद था।

वहीं जेल प्रशासन का कहना है कि कैदी रहमतुल्लाह ने टीन के पत्तर से अपना गला काटकर आत्महत्या की है। बताया जा रहा है कि बीते मंगलवार की दोपहर गला काट लिया था। जेल अस्पताल में उसे इलाज के लिए ले जाया गया, जहां उसकी स्थिति गंभीर बनी हुई थी। हालत जब बिगड़ने लगी तो उसे मंगलवार की शाम सात बजे रिम्स में भर्ती कराया गया। जहां इलाज के दौरान रात ग्यारह बजे मौजूद चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया।

मौत के 12 घंटे बाद परिजनों की दी गई खबर

रहमतुल्लाह अंसारी की मौत के मामले में जेल प्रशासन की लापरवाही सामने आयी है। रहमतुल्लाह ने मंगलवार को दिन में गला काटा लिया था। रिम्स में उसे शाम सात बजे भर्ती कराया गया था। गंभीर हालत होने के बाद भी न तो जेल प्रशासन की ओर से घटना की जानकारी उसके परिजनों को दी गई और न ही रिम्स की तरफ से। रहमतुल्लाह की मौत के 12 घंटे बाद बुधवार को दिन के ग्यारह बजे उसके परिजनों को इसकी जानकारी दी गई।

परिजनों का आरोप था कि आखिर जेल प्रशासन ने उन्हें क्यों नहीं पहले जानकारी दी। हो सकता है कि देखभाल सही होने से रहमतुल्लाह की जान बच सकती थी। परिजनों ने यह सवाल उठाया है कि जब रहमतुल्लाह ने गला काटकर आत्महत्या की है तो फिर उसके हाथ में छिलने के निशान कैसे आए। उनका यह भी कहना था कि कोई भी व्यक्ति खुद से पूरा गला नहीं काट सकता है।

मृत कैदी के परिजनों ने बुधवार को मौत की सूचना मिलने के बाद रिम्स के कार्डियोलॉजी विभाग के पास एक घंटे से अधिक समय तक हंगामा किया। कांके के करीब पचास से अधिक लोग अस्पताल के पास पहुंचे थे। बार-बार वे कैदी के जेल के अंदर हत्या होने की बात कर रहे थे और आरोपी को सजा दिलाने की मांग कर रहे थे। उनका कहना था कि जेल पूरी तरह से सुरक्षित नहीं है।

परिजनों ने बताया कि वो किसी भी हाल में आत्महत्या नहीं कर सकता था। साथ ही कहा कि जब शाम को एक कमरे में पांच से आठ लोग एक साथ रहते हैं, तो फिर उसी वक्त गर्दन कैसे काट ली। अगर काट भी ली तो उसकी हथेली की उल्टी तरफ चोट के निशान कैसे थे। छाती में खरोंच कैसे आया। बरियातू थानेदार ने काफी समझा बुझाकर मामले को शांत कराया।

खेलगांव थाने में जेल प्रशासन ने दर्ज कराया केस

जेल प्रशासन की ओर से रहमतुल्लाह अंसारी की मौत के मामले में खेलगांव थाने में यूडी केस दर्ज कराया गया है। प्रशासन की ओर से थाने में दिए गए आवेदन में कहा गया है कि बिरसा मुंडा केंद्रीय कारा में बंद विचाराधीन बंदी रहमतुल्लाह अंसारी उर्फ रानी ने मंगलवार को टीन के बने पत्तर से अपना गला काटने का प्रयास किया, जिससे वह गंभीर रूप से घायल हो गए। आनन-फानन में कैदी को जेल अस्पताल में भर्ती कराया गया। स्थिति गंभीर होने पर उसे रिम्स में इलाज के भर्ती कराया गया। इलाज के दौरान मंगलवार रात रहमतुल्लाह की हालत बिगड़ गई। देर रात उसकी मौत हो गई। दर्ज प्राथमिकी के आधार पर पुलिस मामले की जांच में जुट गई है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *