लाइफ स्टाइल

चिकन पॉक्स का नया वेरिएंट बहुत जल्दी फैल रहा है, जाने

भारत में हाल ही में चिकनपॉक्स के एक नए वेरिएंट का पता चला है, जो तेजी से फैल रहा है। इसे क्लैड 9 (Clade 9) के नाम से जाना जाता है। इसे अधिक संक्रामक है और गंभीर माना जा रहा है।

एनआईवी ने लगाया पता

इसका पता नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ वायरोलॉजी (एनआईवी) के वैज्ञानिकों ने लगाया है। यह एक चिंता का विषय है क्योंकि भारत में बड़ी आबादी है और चिकनपॉक्स की दर भी अधिक है।

क्लैड 9 का नहीं पक्का इलाज

चिंता की बात यह है कि क्लैड 9 के लिए कोई विशिष्ट उपचार नहीं है। चिकनपॉक्स एक अत्यधिक संक्रामक बीमारी है जो वैरिसेला-ज़ोस्टर वायरस (वीजेडवी) के कारण होती है।

क्लैड 9 के लक्षण

क्लैड 9 के मामले में, लक्षणों में बुखार, दाने, खुजली वाले वाले छाले, सिरदर्द, खांसी, गले में खराश, थकान और खराब स्वास्थ्य की भावना शामिल है।

क्लैड 9 के नुकसान

इस वेरिएंट में मरीज को खुजलीदार छाले और पानी वाले दाने हो जाते हैं जो आमतौर पर छाती, पीठ और चेहरे पर दिखाई देते हैं। दाने शरीर के अन्य भागों में भी फैल सकते हैं। इससे निमोनिया, एन्सेफलाइटिस, स्किन इन्फेक्शन भी हो सकते हैं।

बच्चों को लिए खतरनाक

चिकनपॉक्स दाने निकलने के 1-2 दिन पहले से लेकर तब तक सबसे अधिक संक्रामक होता है जब तक कि सभी छाले खत्म न हो जाएं। यह बच्चों में हल्का होता है वयस्कों में लक्षण गंभीर हो सकते हैं।

चिकनपॉक्स होने पर क्या करें

भरपूर आराम करें, बुखार और दर्द से राहत के लिए ओवर-द-काउंटर दवाएं लें, खुजली के लिए दाने पर कैलामाइन लोशन लगाएं, दाने को साफ और सूखा रखें, और दाने को खरोंचने से बचें।

चिकनपॉक्स से ऐसे बचें

चिकनपॉक्स से पीड़ित लोगों के निकट संपर्क से बचें, खांसते या छींकते समय मुंह और नाक को ढकें, हाथों को बार-बार साबुन और पानी से धोएं और रोगी का तौलिया, बिस्तर और बर्तन साझा न करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *