देश

दिल्ली में शीतलहर बरपा रही कहर, अधिकतम तापमान में कमी से लोग बेहाल, IMD ने जारी की चेतवानी

नई दिल्ली
 नए साल का स्वागत घने कोहरे के साथ हुआ है. समूचा उत्तर भारत इस वक्त कोहरे के चादर से लिपटा हुआ है. कई शहरों में सोमवार सुबह विजिबिलिटी शून्य हो गई थी, जिसका असर यातायात पर पड़. वहीं कई ट्रेनें रद्द भी हो गईं और सैकड़ों ट्रेनें कई घंटे की देरी से चल रहे हैं. साथ ही कई फ्लाइट भी प्रभावित हुई हैं. इसके अलावा फसलों पर भी इसका बुरा असर पड़ रहा है. इस बीच भारतीय मौसम विज्ञान केंद्र ने अगले कुछ दिनों के लिए अलर्ट जारी किया है और कहा है कि कुछ दिनों तक कोहरे से राहत मिलने के आसार नजर नहीं आ रहे हैं.

आईएमडी के मुताबिक 1 जनवरी 2024 को सुबह 6 बजे ली गई सैटेलाइट तस्वीर में उप हिमालयी पश्चिम बंगाल, दक्षिण उत्तराखंड, उत्तर-पश्चिम मध्य प्रदेश, बिहार, उत्तर प्रदेश, दिल्ली, हरियाणा, उत्तरी राजस्थान और पंजाब पर कोहरे की एक स्पष्ट परत नजर आ रही है. प्राप्त जानकारी के मुताबिक यह हालात अभी कुछ दिन और नजर आएंगे. वहीं राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली और एनसीआर में भीषण ठंड व शीतलहर का कहर जारी है.

दिल्ली-एनसीआर में न्यूनतम तापमान में गिरावट दर्ज की गई है. आईएमडी ने कहा है कि अगले पांच दिनों तक शीतलहर में कमी के कोई संकेत नजर नहीं आ रहे हैं. दिल्ली के लिए आईएमडी ने ऑरेंज अलर्ट जारी किया है. पंजाब सरकार ने बढ़ती ठंड को देखते हुए 1 जनवरी से निजी समेत सभी स्कूलों के समय को बदलने का फैसला किया है. मौसम वैज्ञानिकों का कहना है कि बिहार में फिलहाल तीन दिन. आईएमडी ने कहा कि बंगाल की खाड़ी से निचले स्तर की पूर्वी हवाओं के कारण 1-3 जनवरी तक उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ में हल्की छिटपुट बारिश की भविष्यवाणी की गई है.

अगले दो महीनों के दौरान मध्य और उत्तर पश्चिम भारत के कई हिस्सों में अधिकतम तापमान में 2-3 डिग्री सेल्सियस की गिरावट होने की संभावना है और देश के बाकी हिस्सों में न्यूनतम तापमान में कोई महत्वपूर्ण बदलाव नहीं हो सकता है. इस बीच, आईएमडी के अनुसार, उत्तराखंड में 31 दिसंबर (रविवार) से 4 जनवरी (गुरुवार) तक सुबह/सुबह के समय घने कोहरे की स्थिति (दृश्यता 50-200 मीटर) देखी जा सकती है. कोहरे की चादर और कम विजिबिलिटी ने प्रभावित क्षेत्रों में यात्रियों और निवासियों के लिए बड़ी चिंता पैदा कर दी है.

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *