छत्तीसगढ़राज्य

कार्यक्रम में निशुल्क पाठ्य पुस्तक, गणवेश और साईकिल वितरण किया गया

रायपुर

गौरेला पेंड्रा मरवाही जिसे के स्वामी आत्मानंद अंग्रेजी माध्यम विद्यालय पेंड्रा में आज जिला प्रशासन के सहयोग से स्कूल शिक्षा विभाग द्वारा जिला स्तरीय शाला प्रवेश उत्सव का आयोजन किया गया। इस अवसर पर सेजेस पेंड्रा सहित विभिन्न शालाओं में और कक्षाओं में नवप्रवेशी छात्र छात्राओं का विधायक प्रणव कुमार मरपची, कलेक्टर लीना कमलेश मंडावी, डीएफओ रौनक गोयल सहित अनेक जनप्रतिनिधियों ने फूल माला पहनाकर, तिलक लगाकर और लड्डू खिलाकर उनका स्वागत किया। साथ ही निशुल्क पाठ्य पुस्तक, गणवेश और साइकिल वितरित किया गया।

         विधायक श्री मरपची ने अपने संबोधन में कहा कि आज का दिन बच्चों के लिए बहुत खास है। उन्होंने कहा कि बच्चों को सही दिशा देने की जरूरत होती है। शिक्षक बच्चों के भविष्य निर्माता है। बच्चे ज्यादातर समय स्कूलों में बिताते हैं। बच्चों के गुण दोष का ज्ञान माता-पिता से ज्यादा शिक्षकों को होता है। शिक्षा और खेल के साथ साथ प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी भी स्कूलों में कराना चाहिए। उन्होंने कहा कि शहरी बच्चों की तरह ग्रामीण बच्चों को भी उनकी रूचि एवम् लक्ष्य पूर्ति के लिए उन्हें प्रोत्साहित करना चाहिए तथा उचित मार्गदर्शन देना चाहिए। विधायक ने सभी को शाला प्रवेश उत्सव की शुभकामनाएं दी।
        कलेक्टर श्रीमती लीना कमलेश मंडावी ने कहा कि बच्चे देश का भविष्य होते हैं। उनके भविष्य को संवारना शासन प्रशासन की जिम्मेदारी है। उन्होंने कहा कि शिक्षा बच्चों का जन्म सिद्ध अधिकार है। कोई भी बच्चा स्कूल जाने से वंचित नहीं रहना चाहिए। इसलिए पालको और बच्चों को संदेश देने के लिए शाला प्रवेश उत्सव मनाया जा रहा है। उन्होंने कहा कि शिक्षा का अधिकार अधिनियम के तहत के गरीब बच्चों को निजी विद्यालयों में प्रवेश दिलाया जा रहा है।इस अवसर पर वन मंडलाअधिकारी श्री रौनक गोयल ने प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी की मंशा के अनुरूप अपनी मां को भेंट स्वरूप एक पौधा जरूर लगाने का आह्वान किया। उन्होंने कहा कि हरियाली बढ़ाने और पर्यावरण संरक्षण के लिए पौधे लगाना जरूरी है। जुलाई में पौधे लगाने से पौधों की बढ़त अच्छी होती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *