देश

CAA विरोध प्रदर्शन : दिल्ली मेट्रो ने इन स्टेशनों को यात्रियों के लिए खोला

 नई दिल्ली 
 दिल्ली मेट्रो ने बहुत से स्टेशनों को कई घंटे बंद रखने के बाद शाम करीब साढ़े 5 बजे खोल दिया है। इन स्टेशनों में शामिल हैं-  चांदनी चौक, बाराखंबा, मंडी हाउस, प्रगति मैदान, लाल किला, राजीव चौक, जामा मस्जिद, दिल्ली गेट, आईटीओ, जनपथ, खान मार्केट, वसंत विहार, मुनिरका, विश्वविद्यालय, पटेल चौक, सेंट्रेल सेक्रेटेरिएट (केंद्रीय सचिवालय), उद्योग भवन, लोक कल्याण मार्ग स्टेशन। संशोधित नागरिकता कानून के खिलाफ राष्ट्रीय राजधानी में जगह-जगह हो रहे प्रदर्शनों के मद्देनजर डीएमआरसी ने करीब 20 मेट्रो स्टेशनों को बंद कर दिया था।

संशोधित नागरिकता कानून ( CAA Protest ) के विरोध में गुरुवार को विरोध-प्रदर्शन के चलते दिल्ली-एनसीआर में आम जनजीवन अस्त व्यस्त रहा। सुरक्षा के मद्देनजर दिल्ली मेट्रो के 15 से ज्यादा मेट्रो स्टेशनों के प्रवेश और निकास द्वार बंद कर दिए गए। इसके चलते दिल्ली एनसीआर के आम लोगों को आने-जाने में काफी परेशानी का सामना करना पड़ा। सूत्रों ने बताया कि मेट्रो के प्रवेश और निकास द्वार को इसलिए बंद कर दिया गया ताकि विरोध प्रदर्शन करने जा रहे लोगों को रोका जा सके। संशोधित नागरिकता कानून के खिलाफ बृहस्पतिवार को प्रदर्शन तेज हो गया था।

दिल्ली की लाइफलाइन मेट्रो के स्टेशन बंद होने के चलते दिन भर यात्रियों को भारी दिक्कत का सामना करना पड़ा। आम लोगों को यातायात से जुड़ी कई दिक्कतों का सामना करना पड़ा। दिल्ली के कई इलाकों में धारा 144 लागू कर दी गई है। 
 
संशोधित नागरिकता कानून ( CAA – Citizenship Amendment Act ) के विरोध में गुरुवार को नई दिल्ली में जंतर-मंतर पर बड़ी संख्या में प्रदर्शनकारी जमा हुए। इससे पहले उन्हें लाल किला और मंडी हाउस पर प्रदर्शन की इजाजत नहीं दी गयी जहां निषेधाज्ञा लागू कर दी गयी। डी राजा, सीताराम येचुरी, नीलोत्पल बसु, बृंदा करात समेत वामपंथी नेताओं, कांग्रेस के अजय माकन और संदीप दीक्षित तथा सामाजिक कार्यकर्ता योगेंद्र यादव एवं छात्र नेता उमर खालिद समेत अनेक नेताओं को लाल किले तथा मंडी हाउस के पास से हिरासत में लिया गया जहां इनकी प्रदर्शनों की योजना थी। इसके बाद प्रदर्शनकारी जंतर मंतर की ओर बढ़ने लगे और इसे देखते हुए प्रदर्शन स्थल पर बड़ी संख्या में सुरक्षा बलों और अवरोधकों को लगाया गया। वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों ने छात्रों और कार्यकर्ताओं से शांति बरतने की अपील की है। पुलिस ने किसी भी हालात से निपटने के लिए जंतर मंतर पर वाटर कैनन भी तैनात कर दिये हैं। लाल किले के आसपास बड़ी संख्या में प्रदर्शनकारियों को पुलिस ने बसों में बंद किया। इलाके को खाली करने के प्रयास के तहत यह किया गया जहां धारा 144 लागू है।

फोन सेवा भी कर दी गई थी सस्पेंड 
नागरिकता कानून को लेकर हो रहे विरोध-प्रदर्शन के मद्देनजर दिल्ली के कुछ इलाकों में मोबाइल फोन सेवा को निलंबित किया था, मगर करीब 5 घंटे बाद इसे बहाल कर दिया गया है। गुरुवार को दिल्ली के कुछ इलाकों में करीब 1.30 बजे सभी टेलीकॉम कंपनियों ने अपनी सेवा शूरू कर दी। बता दें कि दिल्ली पुलिस ने सभी संचार कंपनियों को मोबाइल फोन, मैसेज सेवा निलंबित करने का आदेश दिया था। गौरतलब है कि दिल्ली में प्रदर्शन अब भी तेज है और इसे देखते हुए ही कई मेट्रो स्टेशनों को बंद कर दिया गया है। 

Related Articles

Back to top button
Close