छत्तीसगढ़

Chitrakoote : इस सीट पर नतीजे तय करेंगे बस्तर में BJP का भविष्य!

रायपुर
छत्तीसगढ़ विधानसभा (Chhattisgarh Assembly) के चित्रकोट (Chitrakote) सीट पर हुए उपचुनाव (Bypoll) में मतगणना बुधवार को की जा रही है. चित्रकोट उपचुनाव परिणाम (Chitrakote Bypoll Result) बस्तर (Bastar) में बीजेपी (BJP) के भविष्य के लिए अहम माना जा रहा है. क्योंकि यदि इस सीट पर बीजेपी (BJP) को हार मिलती है तो प्रदेश का ये बड़ा संभाग बीजेपी मु​क्त हो जाएगा. क्योंकि इस संभाग की 12 में से 11 सीटें पहले ही कांग्रेस जीत चुकी है. यदि इस सीट पर बीजेपी को जीत मिलेगी तो उसका असर आगामी निकाय चुनाव में भी देखने को मिल सकता है.

आदिवासी (Tribals) बाहुल्य बस्तर (Bastar) संभाग में विधानसभा (Assembly) की कुल 12 सीटों में से 11 सीटें एसटी आरक्षित है. विधानसभा चुनाव 2018 (Assembly Election 2018) में इस सभांग की 11 सीटें कांग्रेस ने जीती थीं. इस संभाग में दंतेवाड़ा (Dantewada) सीट पर भीमा मंडावी ने जीत दर्ज कर विधानसभा में बस्तर बीजेपी (Bastar BJP) की उपस्थिति बरकरार रखी थी, लेकिन लोकसभा चुनाव (Lok Sabha Election) 2019 में पहले चरण की वोटिंग से ऐन पहले नक्सलियों (Nxaalites) ने हमला कर विधायक भीमा मंडावी (MLA Bheema Mandavi) की हत्या कर दी थी. इसके बाद से विधानसभा में बीजेपी मुक्त बस्तर हो गया है.

बता दें कि विधायक भीमा मंडावी की हत्या के बाद खाली हुई दंतेवाड़ा सीट पर बीते सितंबर महीने में ही उपचुनाव हुए. इस उपचुनाव में बीजेपी ने अपनी दंतेवाड़ा सीट गंवा दी. कांग्रेस की प्रत्याशी देवती कर्मा ने बीजेपी प्रत्याशी ओजस्वी मंडावी को 11 हजार से अधिक वोटों से हराया. इसके बाद बस्तर में बीजेपी की एकमात्र उम्मीद चित्रकोट सीट बची है, जिसमें शुरुआती रूझानों में कांग्रेस के प्रत्याशी आगे हैं. गौरतलब है कि चित्रकोट सीट पर विधानसभा चुनाव 2018 में कांग्रेस के दीपक बैज को जीत मिली थी. लोकसभा चुनाव 2019 में बस्तर सीट से दीपक बैज के सांसद निर्वाचित होने के बाद से ये सीट खाली है.

चित्रकोट उपचुनाव में बीते 21 अक्टूबर को हुई वोटिंग में 78.12 फीसदी मतदाताओं ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया है. वोटिंग के बाद से ही राजनीतिक दलों के अपने अपने दावे हैं. पूर्व सीएम और बीजेपी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष डॉ. रमन सिंह का कहना है कि कांग्रेस ने उनकी दंतेवाड़ा सीट छीनी है. बीजेपी अब कांग्रेस की चित्रकोट सीट छिनेगी. चित्रकोट में बीजेपी की जीत पक्की है. जबकि कांग्रेस के प्रदेश प्रवक्ता विकास तिवारी का कहना है कि चित्रकोट विधानसभा क्षेत्र के ही लोहांडीगुड़ा में सरकार में आते ही कांग्रेस ने आदिवासियों की एक उद्योग के लिए ली गई जमीन वापस कर दी. इसके अलावा 9 महीने के ही कार्यकाल में कांग्रेस सरकार ने आदिवासी, गरीब व ग्रामीणों के लिए जो काम किए हैं, उसका असर चित्रकोट उपचुनाव में दिखा है. उनकी पार्टी की जीत पक्की है.

Related Articles

Back to top button
Close