मध्य प्रदेश

Facebook अकाउंट हैक करके भी लोगों से हो रही ठगी, जानें कैसे बने दो Teacher शिकार

सिवनी
जिले के छपारा थाना क्षेत्र के दो शिक्षक (Teachers) फेसबुक मैसेंजर के जरिए साइबर ठगी (Cyber ​​fraud) के शिकार हुए हैं. इस नए तरह की साइबर ठगी की घटना सामने आने के बाद पुलिस भी सकते में है. इस बार हैकरों ने फेसबुक अकाउंट हैक (Facebook account hack)  कर लोगों को ठगी का शिकार बनाना शुरू किया है. इस ठगी में शिकार वह नहीं होता जिसका फेसबुक अकाउंट हैक होता है. शिकार वे लोग बन जाते हैं जिन्हें हैक अकाउंट से मैसेज आते हैं. हाल ही में सिवनी के छपारा के दो शिक्षक और उनके रिश्तेदार इस नई तरह की ठगी के शिकार हुए.

बताया जा रहा है हैकरों ने इन दोनों शिक्षकों की फेसबुक आईडी को पहले हैक कर लिया, फिर फेसबुक मैसेंजर से उनके तमाम फेसबुक दोस्तों को परेशानी बता कर मदद के तौर पर रकम मांगने के मैसेज भेजने शुरू कर दिया. ये हैकर इतने शातिर हैं कि मदद के तौर पर हजार रुपए की मामूली राशि मांगते हैं. साथ ही मैसेंजर से लगातार बातचीत जारी रखते हैं ताकि मैसेज पानी वाले व्यक्ति को शक न होने पाए या फिर वह सीधे सामने वाले व्यक्ति को फोन न कर पाए.

उस रकम को ऑनलाइन बैंकिंग (Online banking) के माध्यम से किसी अनजान खाते की जानकारी भेज कर डलवाने को कहते हैं. जिस व्यक्ति ने भी सतर्कता नहीं बरती और मैसेज को सच मान लिया और रकम दिए गए खाते मे भेज दी फिर उसे ठगी का शिकार होने से कोई नहीं बचा सकता. जिसने मैसेज पढ़कर सीधे फेसबुक अकाउंट होल्डर से फोन लगाकर बात कर ली वह ठगी का शिकार होने बच जाता है.

जानकी प्रसाद राजपूत नाम के एक शिक्षक का फेसबुक अकाउंट हैक करने वाले कामयाब हो गए. जानकी प्रसाद राजपूत के दो रिश्तेदारों ने मिले फेसबुक मैसेज को सच मानकर दिए गए खातों में 28 हजार की राशि डलवा दी. दूसरे शिक्षक योगेश वाकलवार के हैक अकाउंट से उनके दोस्तों से रुपए मांगे गए तो मैसेज मिलने वाले कुछ दोस्तो ने योगेश वाकलवार से फोन कर परेशानी के बारे मे पूछ लिया. तब इक ठगी की घटना उजागर हो गई. दोनों शिक्षको ने पुलिस मे शिकायत की है. पुलिस ने इस पूरे मामले की जांच साइबर सेल के हाथो सौंप दी है. साथ ही पुलिस ने एडवाइजरी जारी की है कि यदि किसी के साथ इस तरह की घटना होती है तो वह फौरन पुलिस को इसकी सूचना दे ताकि हैकरों का पता लगाया जा सके.

Related Articles

Back to top button
Close